निबंध एवं वाद-विवाद प्रतियोगिताओं से छात्र-छात्राओं का ज्ञान निखरता है-सशक्त सिंह

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr +

आर्यकुल कालेज में सुरक्षित सीमा-सशक्त भारत, देशभक्ति सभी सद्गुणों की जननी है और सीमा सुरक्षा में हमारी भूमिका विषय पर कालेज के सभी छात्र-छात्राओं की ओर से अपने विचार लिखने पर कालेज के प्रबन्ध निदेशक सशक्त सिंह ने प्रसंशा की है और कहा कि निबंध एवं वाद-विवाद प्रतियोगिताओं से छात्र-छात्राओं का ज्ञान निखरता है। इससे बच्चों को अपनी प्रतिभा का भी पता लगता है यह बहुत ही आवश्यक हैं हमें यह भी पता हो कि अपने मन में उठने वाले अच्छे विचारों को हम अपनी लेखनी के माध्यम से बता सकते हैं कि नहीं। इसके साथ ही हमें निबंध के विषय से एक नयी ऊर्जा मिलती है जिससे हम देश की सुरक्षा के प्रति जागरूक  हो सकेंगें।

इस प्रतियोगिता के विषय में बताते हुए उन्होंने कहा कि हमें इसके विषय से प्रेरणा लेनी चाहिए और देश के नागरिकों को सीमा सुरक्षा के प्रति जागरूक करना चाहिए जो प्रत्येक भारतवासी का कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता का पहला विषय सुरक्षित सीमा-सशक्त भारत से्र हमें यह सीखना होगा कि अगर हमारे देश की सीमा सुरक्षित होगी तभी हमारा भारत सशक्त बनेगा इसका  तात्पर्य यह है कि देश की सीमाऐं पूरी तरह से सुरक्षित होनी चाहिए तभी देश के अन्दर भी सुख-समृद्धि होगी। इसके दूसरे विषय की ओर देखे तो देशभक्ति सभी सद्गुणों की जननी है अगर व्यक्ति के अन्दर अपने के प्रति देशभक्ति है तो उस व्यक्ति के अन्दर सभी गुण अपने आप ही आ जायेंगे क्योंकि जो अपने देश के प्रति ईमानदार है वह सभी के प्रति ईमानदार ही होगा। इसलिए अपने देश के प्रति सभी को वफादार होना चाहिए।

इस प्रतियोगिता के तीसरे विषय सीमा सुरक्षा में हमारी भूमिका के बारे में बताते हुए श्री सिंह ने कहा कि यह विषय तो सभी के लिए संकल्प लेने वाला है क्योंकि आज के इस दौर में जहां व्यक्ति सिर्फ अपने ही विषय में सोचता है वहीं उसको अपने जीवन के कुछ समय अपने देश की सीमा सुरक्षा के लिए जरूर निकालना चाहिए। क्योंकि हम भारतवासी हैं और भारत हमारी मातृभूमि है हमें इसके लिए भी कुछ अच्छा करना चाहिए तभी हमारा देश एक सशक्त भारत बन पायेगा।

 

Share.

Leave A Reply